अगर यह खिलाड़ी ना होता फ्लॉप, तो एमएस धोनी आज भी घूम रहे होते रांची की गलियों में

1118

एमएस धोनी भारतीय क्रिकेट का एक बहुत बड़ा नाम है. एमएस धोनी ने अपने शानदार प्रदर्शन के चलते भारतीय टीम को कई मैचों में जीत दिलाई हुई है.

एमएस धोनी की कप्तानी में ही भारतीय टीम ने साल 2011 का वनडे विश्व कप जीता था. वही उन्ही की कप्तानी में भारतीय टीम ने साल 2007 का टी-20 विश्व कप जीता था.

धोनी की ही कप्तानी में भारतीय टीम साल 2013 की चैंपियंस ट्रॉफी जीतने पर कामयाब हो पाई थी एमएस धोनी की शानदार कप्तानी और उनकी शानदार बल्लेबाजी के दम पर भारत ने कई मैचों में जीत हासिल की हुई है.

आपकों बता दें, कि एमएस धोनी ने भारतीय टीम के लिए अपना डेब्यू मैच साल 2004 में खेला था. उनसे पहले पार्थिव पटेल को भारतीय टीम में मौका दिया गया था, लेकिन पार्थिव पटेल फ्लॉप साबित हुए थे. जिसके बाद चयनकर्ताओं ने विकेटकीपर की तलाश में एमएस धोनी की टीम में शामिल किया.

एमएस धोनी के शुरूआती कुछ मैच तो अच्छे नहीं रहे, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ 148 रन की पारी खेलने के बाद उनके क्रिकेट करियर ने तेजी से उड़ान भरी थी. अगर शायद पार्थिव पटेल फ्लॉप साबित ना होते, तो आज भी धोनी रांची की गलियों में घूम रहे होते.