चीन ने दिया बड़ा बयान कहा, नीरव मोदी की गिरफ़्तारी पर फैसला ले सकता है हांग कांग प्रशासन

आभूषण के कारोबारी नीरव मोदी पिछले कुछ दिनों से काफी सुर्खियों में चल रहे है. नीरव मोदी पर आरोप है, कि वह पंजाब नैशनल बैंक से करोड़ो रूपये का कर्ज लेकर भागे है.

इसी बीच चीन ने सोमवार को कहा है, कि नीरव मोदी को गिरफ्तार करने के लिए एजेंसियों के अनुरोध पर हांग कांग प्रशासन अपने कानूनों और परस्पर न्यायिक सहयता समझौते के आधार पर फैसला कर सकता है.

आपकों बता दे, कि विदेश मंत्री वी के सिंह ने पिछले सप्ताह संसद में कहा था, कि उनके मंत्रालय ने चीन के हांग कांग विशेष प्रशासकिय क्षेत्र की सरकार से नीरव मोदी को अस्थाई तौर पर गिरफ्तार करने का आग्रह किया है.

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग सुआंग ने इस बारे में कहा, भारत यदि इस संबंध में हांग कांग प्रशासन को उपयुक्त आग्रह भेजता है, तो हमारा मानना है, कि हांग कांग प्रशासन संबंध मुद्दे मुलभुत कानून का अनुसरण करते हुए इस बारे में संबद्ध न्यायिक समझौते तहत कदम उठाएगा.

आपकों बता दे, कि नीरव मोदी पर पंजाब नैशनल बैंक का 12700 करोड़ रूपये का कर्ज लेकर भागने का आरोप है और अब भारतीय सरकार नीरव मोदी को गिरफ्तार करना चाहती है. जिसके चलते भारत सरकार हांग कांग प्रशासन से मदद मांग रही है.

अब यह देखना दिलचस्प होगा, कि हांग कांग प्रशासन नीरव मोदी की गिरफ़्तारी में भारत की मदद करता है या नहीं.

आपकों बता दे, कि साथ ही चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग सुआंग ने कहा कि भारत और चीन की सीमा के मुद्दों को टूल नहीं देना चाहिए उन्होंने कहा कि दोनों ही पक्षों को समझौते का पालन करना चाहिए और सीमा पर अमन-चैन बनाये रखना चाहिए.

 

Leave a Comment