अरब देश से भारतीय कामगार ने मांगी बीमार पिता के लिए मदद, सासंद रवि किशन की टीम बोली- ‘हम है ना’

कोरोना की वजह से लोग इस समय बड़ी परेशानी का सामना कर रहे हैं। वहीं इसी  बीच सांसद रवि किशन से एक भारतीय कामगार ने सऊदी अरब से मदद की गुहार लगाई है।

जानकारी के अनुसार, बिहार के बेतिया जिला निवासी मो। औरंगजेब नौकरी के सिलसिले में सऊदी अरब में हैं। वहीं इस दौरान उनके घर में बुजुर्ग पिता शेख अली अहमद की तबियत खराब ही गयी और उस समय उनके पास सिर्फ उनकी छोटी ही बहन थी।

वहीं पिता की तबियत खराब होने पर उसकी छोटी बहन पिता का इलाज कराने निकली और चिकित्सकों ने उन्हें गोरखपुर ले जाने की सलाह दी। यहां भी हालत नहीं संभली तो बुधवार को सुबह चिकित्सकों ने उन्हें लखनऊ मेडिकल कॉलेज ले जाने की सलाह दी।वहीं जिसके बाद अनजान शहर में बीमार पिता को लेकर आई बहन ने औरंगजेब से मदद मांगी।

सऊदी अरब में मौजूद औरंगजेब ने टीम रवि किशन से वाट्सएप पर संपर्क किया और मदद मांगी। उन्होंने कहा कि सर, मैं बहुत दूर फंसा हूं मेरे पिता की हालत बहुत खराब है। उन्हें मेडिकल कॉलेज लखनऊ में भर्ती करवा दीजिए वरना हम अनाथ हो जाएंगे। मेरी बहन थोड़ी देर में उन्हें लेकर लखनऊ मेडिकल कॉलेज पहुंच रही है।’

जिसके बाद सांसद रवि किशन के जनसंपर्क अधिकारी पीआरओ पवन दुबे ने यह मैसेज मिलने पर, जानने का प्रयास नहीं किया कि मदद मांगने वाला कौन है। इसके बाद तुरंत ही लखनऊ मेडिकल कॉलेज संपर्क कर मरीज को भर्ती कर इलाज देने का आग्रह किया।

वही टीम रवि किशन के सहयोग से बुजुर्ग अहमद अली को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया और अब मरीज को भर्ती कर उनका इलाज किया जा रहा है। वहीं इस मदद मिलने पर औरंगजेब ने टीम रवि किशन को दुआएं और धन्यवाद दिया।

इसी के साथ औरंगजेब ने बताया कि वह सऊदी अरब में हैं और घर पर अकेली बहन ही पिता की तीमारदारी कर रही है। औरंगजेब ने धन्यवाद देते हुए कहा कि उसकी बहन को एक और भाई मिल गया है। पवन ने मैसेज कर बताया कि उनकी बहन अकेली नहीं है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व सांसद रवि किशन का उद्देश्य जनता की सेवा करना है। सांसद और उनकी टीम हमेशा जरूरतमंदों के साथ हैं।

 

Leave a Comment