शोएब अख्तर ने बताया, किस बल्लेबाज के सामने गेंदबाजी करने में लगता था सबसे ज्यादा डर?

471
Shoaib Akhtar

अपने समय में दुनिया के जाने माने दिग्गज तेज गेंदबाजों में शुमार किए जाने वाले पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) रफ्तार से दुनिया के बेहतर बल्लेबाजों को घुटने टेकने के लिए मजबूत कर देते हैं।

मगर शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) किस बल्लेबाज को गेंदबाजी करने से कतराते थे इसका खुलासा अब उन्होंने किया है। शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) जिन बल्लेबाजों को गेंदबाजी डालने से घबराते थे। उन्होंने इस लिस्ट में 2 बल्लेबाजों को शामिल किया है।

आज भी शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) के नाम पर है सबसे तेज गेंद डालने का रिकॉर्ड

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) वर्ल्ड की सबसे खतरनाक गेंदबाजों में से एक थे। इतना ही नहीं उनके नाम पर विश्व क्रिकेट की सबसे तेज डालने का रिकॉर्ड दर्ज है। उन्होंने यह कारनामा साल 2003 के फरवरी महीने में किया था।

उस दौरान उन्होंने 161.3 KMPH की रफ्तार से गेंद फेंककर सबको अचंभित किया था और आज तक यह रिकॉर्ड शोएब अख्तर के नाम पर दर्ज है। दुनिया का कोई भी गेंदबाज शोएब अख्तर के इस रिकॉर्ड के आसपास भी नहीं भटक सका है।

शोएब ने लिए 2 कंगारू खिलाड़ियों के नाम

एक स्पोर्ट यूट्यूब चैनल से बात करते हुए शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने अपनी राय दी है। उन्होंने अपनी बातचीत में उन बल्लेबाजों के नाम गिनाए जिनको गेंदबाजी करने में उन्हें डर लगता था।

शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने अपनी बातचीत में कहा,”मेरे हिसाब से सबसे अच्छा इंसान और सबसे बेहूदा बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट थे। बेहूदा इसलिए कि वो जिस गेंद पर आउट हो सकते थे उस पर छक्का मारने की भी काबिलियत रखते थे। मैंने इस तरह की चीज पहले नहीं सुनी थी।

मैंने पर्थ में उनको एक गेंद डाली तो वो उनके शरीर पर जाकर लगी और अगली ही गेंद पर उन्होंने छक्का जड़ दिया। जब मैंने उनको आगे डालकर बीट कराया तो उसके बाद उसी तरह की गेंद पर उन्होंने कवर में चौका जड़ दिया। बाद में मुझे पता चला कि उनकी कमजोरी केवल यॉर्कर है। मुझे उनसे काफी डर लगता था।”

इन दो भारतीय खिलाड़ियों का भी किया ज़िक्र

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने अपनी बातचीत में आगे कहा, “मुझे रिकी पोंटिंग से डर लगता था। मैं यही सोचता था कि अगर ये 15-20 बॉल तक रुक गए तो फिर 120 गेंद खेलकर जाएंगे। इसके अलावा सचिन तेंदुलकर भी काफी बेदर्दी से बल्लेबाजी करते थे। राहुल द्रविड़ तकनीकी रूप से काफी सक्षम थे। उन्हें बीट करना आसान नहीं होता था।”

ये भी पढ़ें- PBKS vs RCB के बीच में बने कुल 18 रिकाॅर्ड, ऐसा करने वाले IPL के पहले खिलाड़ी बने विराट कोहली