IND vs SL : 5 कारण, जिसके चलते श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी20 में टीम इंडिया को मिली शर्मनाक हार; आखिरी सबसे अहम
IND vs SL : 5 कारण, जिसके चलते श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी20 में टीम इंडिया को मिली शर्मनाक हार; आखिरी सबसे अहम

5 जनवरी को हुए दूसरे टी-20 मुकाबले को जीतकर श्रीलंका ने इस सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली है। भारतीय टीम की हार उसी समय तय हो गई थी, जब हार्दिक पांड्या ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला कर लिया,

हालांकि फिर भी टीम आखिरी ओवर तक लड़ती रही एक समय में मैच ऐसे रोमांचक मोड़ पर पहुंच गया था कि श्रीलंका के कप्तान दासून शनाका को खुद गेंदबाजी करनी पडी।

मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंका की टीम ने 207 रनों का बड़ा लक्ष्य भारत को दिया. जिसके जवाब में भारत की शुरुआत बेहद ही खराब रही हालांकि फिर अक्षर पटेल और सूर्यकुमार यादव ने छठे विकेट के लिए 91 रनों की साझेदारी करते हुए सभी को जीत की उम्मीद जताई. परंतु 8 विकेट पर टीम केवल 190 रन ही बना सकी।

ये भी पढ़ें- राशिद खान की टीम ने मचाया धमाल, बिग बैश लीग में एडिलेड स्ट्राइकर्स ने दर्ज की शानदार जीत

मैच में अक्षर पटेल ने 31 गेंदों में छह चौके और तीन चौके लगाते हुए 65 रन बनाए तो वही सूर्यकुमार यादव ने 36 गेंद में 3 चौके और इतने ही छक्के लगाते हुए 51 रनों की पारी खेली।

वहीं दोनों के अलावा शिवम मावी 15 गेंद पर 26 रन ही बना पाए।अंतिम ओवर में श्रीलंका के कप्तान ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 4 रन दिए और 2 विकेट चटकाए इसके अलावा कासून रजिता और दिलशान मदुशंका को भी दो-दो विकेट मिले। आइए अब हम भारतीय टीम की हार की 5 बड़ी वजह बताते हैं।

1. टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला

श्रीलंका बनाम भारत के दूसरे टी-20 का मुकाबला पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में हुआ था यहां पर पिछले 20 मैचों की बात की जाए तो 17 बार तो जीतने वाली टीम ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था।

हालांकि दूसरा आंकड़ा यह भी है कि इस मैदान पर पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने 20 में से 13 मुकाबले जीते थे वही कल के मैच को जोड़ लिया जाए तो 21 में से 14 मैच पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने जीते हैं।

परंतु हार्दिक पांड्या ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला करते हुए सभी को चौंका दिया और आखिर में यह फैसला टीम पर भारी पड़ा।

2. गेंदबाजों का ख़राब प्रदर्शन

अर्शदीप सिंह की अगुवाई में युवा गेंदबाजी पूरी तरह से नाकाम दिखाई दी हालांकि गेंदबाजों ने रन रोकने का अच्छा प्रयास किया।

परंतु फिर वह श्रीलंका के कप्तान की तूफानी पारी के आगे ज्यादा कुछ नहीं कर पाए तेज गेंदबाजों ने 12 ओवर में कुल 151 रन लुटाते हुए मात्र 3 विकेट लिए जबकि स्पिनर ने 8 ओवर में केवल 54 रन ही दजिए तथा इस दौरान 3 विकेट अपने नाम किए थे।

3. भारत ने फेंकी कुल 7 नो बोल

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी-20 मुकाबले में अनुभवी तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह बिल्कुल भी फॉर्म में नहीं दिखाई दिए उन्होंने कुल 5 नो बॉल डाली जिसकी वजह से भारत ने 25 से 30 अतिरिक्त रन दिए।

इसके अलावा भारतीय गेंदबाजों ने 2 और नो बॉल डाली यानी कुल मिलाकर भारत की ओर से 7 नो बॉल फेंकी गई वही ज्यादा नो बॉल डालने के कारण अर्शदीप सिंह ने केवल 2 ओवर में ही 37 रन विरोधी टीम को दे दिए थे।

4. टॉप ऑर्डर हुआ फेल

श्रीलंका के खिलाफ पहले मुकाबले की तरह दूसरे मुकाबले में भी भारतीय टीम का टॉप आर्डर नही चला। दूसरे मुकाबले में ईशान किशन, शुभमन गिल और डेब्यु मैच खेल रहे राहुल त्रिपाठी सस्ते में ही आउट होकर चले गए।

207 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही टीम इंडिया ने 57 के स्कोर पर अपने 5 विकेट खो दिए थे। वही शुरुआती 3 ओवर में भारतीय टीम ने अपने 3 विकेट को दिए थे।

5. युवा बल्लेबाजों का खराब प्रदर्शन

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी-20 मुकाबले में भारतीय टीम की ओर से डेब्यू कर रहे राहुल त्रिपाठी ने आते से ही दो चौके जरूर लगाए थे परंतु वह आगे इस पारी को बरकरार नहीं रख पाए और अपना विकेट खोते चले। इसके अलावा अपना दूसरा T20 मुकाबला खेल रहे शुभमन गिल भी केवल 5 रन बनाकर ही अपना विकेट देते चले।

यह भी पढ़ें : ‘वो हमसे मैच छीन लिए थे, लेकिन…’, जीत के बाद श्रीलंकाई कप्तान दासुन शनाका के बदले तेवर, कह दी ये बड़ी बात