Sheikh Mohammed: बेहतर भविष्य के लिए जमीनी स्तर पर कार्य करने का अवसर, कोविद -19 महामारी के बाद बदल जाएगा जीने का तरीका

2180

रविवार को UAE के उप-राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से अर्थव्यवस्था को हुए नुकसान पर UAE की एविएशन इंडस्ट्री को कुछ खास सुझाव दिए है। जिससे एमिरेट्स ग्रुप और उनके जैसी कई सहायक कंपनियां इस संकट के समय मजबूत होंगी है।

शेख मोहम्मद ने कहा कि “मुझे विश्वास है कि Emiratesऔर dnata इस कठिन अवधि से जरूर उभरेंगे, और इस समय का मजबूत के साथ सामना करेंगे। मुझे पूरा यकिन हैं कि एमिरेट्स और dnata एविएशन, ट्रेवलिंग और टूरिज्म इंडस्ट्री के बेस्ट फ्यूचर को शेप देने वाले ग्लोबल लीडर के रूप में अपनी स्थिति को दुबारा प्राप्त करने के लिए तैयार हैं।”

UAE और दुनिया भर के कई देशों ने कोरोना वायरस के बचने के लिए अपने यहां किसी भी तरह की इंटरनेशनल फ्लाइट पर रोक लगा रखी है। ऐसे मुश्किल समय में एमिरेट्स UAE के मदद पर निर्भर है। एमिरेट्स ग्रुप ने इसी साल 31 मार्च को फाइनेंशल ईयर एंड में घोषणा करते हुए कंपनी के Dh1.7 बिलियन मुनाफे की जानकारी दी। बता दें कि लगातार 32वां साल जब एमिरेट्स एयरलाइन ने Dh1.1 बिलियन के मुनाफे में 21% की वृद्धि दर्ज की।

दुबई को दुनिया से जोड़ने और दुबई के जरिए से दुनिया को एक साथ लाने में एमिरेट्स ग्रुप हमेशा एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहेगा। हिज हाइनेस ने रविवार को कहा कि “हम एक ऐसा राष्ट्र हैं जो दुनिया को मानव प्रगति में योगदान देने वाले प्रोजेक्ट्स पर जाने, रहने, काम करने और रिसर्च में सहयोग करते है। हम मानते हैं कि जब समान विचार वाले राष्ट्र एक संस्थान साथ आते हैं, तो हम असाधारण रिजल्ट हासिल कर सकते हैं।” शेख मोहम्मद ने कहा कि कोविद -19 अवधि के बाद लोगों का जीवन अलग होने वाला है। ये समय हमारे लिए ग्राउंड लेवल पर जाकर सफलता हासिल करने लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित होगा।

कोविद -19 महामारी के बाद बदल जाएगा जीने का तरीका

UAE के उप-राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने कहा “कोविद -19 महामारी के बाद हमारा जीवन अलग होगा, हालांकि हम अभी यह नहीं बता सकते कि ये किस हद तक हो सकता है, लेकिन यह स्पष्ट है कि दुनिया पहले से अलग हो जाएगा। मौजूदा समय में हमें जमीनी स्तर पर कार्य करने का अवसर है, ताकि बेहतर भविष्य को सुनिश्चित किया जा सके। इसके साथ ही सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के बीच भागीदारी, आर्थिक और सामाजिक लचीलापन प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण होगी।

मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने आगे कहा कि दुबई का उद्देश्य भावी पीढ़ियों के लिए एक समृद्ध शहर बनाना है, जहां हर कोई अपने सपनों और आकांक्षाओं को प्राप्त कर सके। इसके साथ ही आर्थिक अवसरों का उपयोग कर सके और जीवन की अच्छी गुणवत्ता का आनंद ले सके।