IPL Playoff 2022: अगर प्लेऑफ में हुई बारिश तो किसको मिलेगी फाइनल में एंट्री? जानिए नियम

IPL Playoff 2022: इंडियन प्रीमियर लीग 2022 का सत्र अपने अंतिम चरण में है। इस टूर्नामेंट का 24 मई को पहला क्वालीफायर मैच खेला जाना है। प्ले ऑफ के चारों मुकाबले कोलकाता और अहमदाबाद में खेले जाएंगे। साथ ही कुछ अन्य नियमों में भी बदलाव देखने को मिला है।

मान लीजिए कि अगर प्ले ऑफ़ के मैचों के दौरान बारिश होती है। फाइनल मुकाबले के दौरान मौसम खराब होता है या फिर किसी अन्य वजह से मैच नहीं होता है तो फिर किस के बाद कैसे मुकाबले का परिणाम तय किया जाएगा। आईपीएल का विनर किसे घोषित किया जाएगा। इससे जुड़ी तमाम जानकारी इस आर्टिकल के जरिए आपको उपलब्ध कराई जा रही हैं।

सुपर ओवर से निकलेगा परिणाम!

IPL 2022

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के अनुसार, इंडियन प्रीमियर लीग की तरफ से एक बयान में कहा गया है कि अगर प्ले ऑफ मैचों में कुछ इस तरह की स्थितियों से दो- चार होना पड़ता है तो संभवत सुपर ओवर का सहारा लेकर फाइनल लिस्ट या विनर के नाम का ऐलान किया जाएगा।

गौर करने वाली बात यह है कि ये सारे रूल क्वालीफायर -1, एलिमिनेटर और क्वालीफायर -टू में भी प्रभावी रहेंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि इनके लिए कोई भी रिजर्व डे तय नहीं किया गया है। मान लीजिए कि इन तीन मुकाबलों में सुपर ओवर डालने की नौबत नहीं आती है तो अंक तालिका में टीमों की स्थिति के अनुसार फाइनलिस्ट तय किए जाएंगे।

फाइनल मुकाबले के लिए रखा गया है ‘रिजर्व डे’

इंडियन प्रीमियर लीग साल 2022 का फाइनल मुकाबला अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में 29 मई को खेला जाना है।

इस मुकाबले के लिए एक रिजर्व डे भी तय किया गया है। मान लीजिए अगर 29 मई को मुकाबला नहीं होता है तो 30 मई को यह मुकाबला खेला जाएगा। फाइनल मुकाबले की टाइमिंग को भी बदला गया है। पहले फाइनल मैच 7:30 बजे से खेला जाना था जिसे अब 8:00 बजे से कर दिया गया है।

घटाए जा सकते हैं ओवर

इंडियन प्रीमियर लीग साल 2022 के दिशा निर्देश के अनुसार प्ले ऑफ के हर मुकाबले में जरूरत के हिसाब से मुकाबले के ओवरों की संख्या को प्रत्येक टीम के लिए कम से कम 5 ओवर की बल्लेबाजी तक के लिए घटाया जा सकता है।

रूल्स के अनुसार एलिमिनेटर और दोनों क्वालीफायर में यदि एक्स्ट्रा टाइम में भी पूरा खेल नहीं हो पाता है तो अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो मुकाबले (एलिमिनेटर या क्वालीफायर) के विजेता का फैसला सुपर ओवर में हो सकेगा। दूसरी तरफ अगर सुपर ओवर नहीं खेला जाता है तो लीग चरण के 70 मुकाबलों के नियमित सत्र के बाद पॉइंट टेबल में ऊपर रहने वाली टीम को प्ले ऑफ़ या फाइनल में विनर घोषित किया जाएगा।

गौरतलब है कि अगर 29 मई को फाइनल मुकाबला खेला जाता है औरएक भी गेंद फेंकी जाती है और बारिश मुकाबले में खलल डालती है तो अगले दिन मुकाबला वहीं से शुरू होगा जहां पर रुका था। लेकिन नियमित समय में खेल संभव नहीं हो पाता है तो सत्र के विजेता का फैसला सुपर ओवर से हो सकता है। दूसरी तरफ अगर आईपीएल की गाइडलाइन पर गौर करें तो यदि मुकाबले में एक भी ओवर नहीं होता है तो लीग की प्वाइंट टेबल के आधार पर विजेता का निर्णय किया जाएगा।

ये भी पढ़ें- RCB vs GT: कोहली-मैक्सवेल के तूफान में उड़े गुजरात के टाइटन्स, प्लेऑफ की रेस में आरसीबी बरकरार