बिहार पुलिस ने कन्हैया कुमार को किया गिर’फ्तार, शुरू करने वाले थे ‘जन-गण-मन’ यात्रा

सीपीआई नेता कन्हैया कुमार को आज बिहार की पुलिस ने हिरा/स/त में लिया है। बताया जा रहा है कन्हैया कुमार नागरिकता संशोधन कानू/न, एनपीआर और एनआरसी के वि/रोध में 1 महीने की जन-गण-मन यात्रा की शुरुआत करने जा रहे थे। इसके लिए वे बेतिया जा रहे थे, हालांकि इसके पहले पु/लिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

इसको लेकर कन्हैया कुमार ने अपने अधिकारी टि्वटर हैंडल से ट्वीट करते हुए बताया कि, “आज बापू-धाम (चम्पारण) में गांधीजी को नमन करके ग़रीब-वि/रोधी CAA-NRC-NPR के विरो/ध में एक महीने की जन-गण-मन यात्रा की शुरूआत होनी थी। समाज के सभी तबक़ों के लोग इस यात्रा में शामिल होने के लिए मौजूद हैं, लेकिन प्रशासन ने कुछ देर पहले हम सबको हिरा/सत में ले लिया है।पुलि/स द्वारा रो/के जाने के बाद कन्हैया कुमार भितिहरवा गांधी आश्रम के बाहर धरने पर बैठ गए हैं।

इसके अलावा पुलिस की तरफ से बेतिया जाने से रोके जाने पर कन्हैया कुमार ने कहा कि गांधी के वि/चारों पर ह/म/ला किया जा रहा है। एक सा/जिश के तहत इस यात्रा को रो/का जा रहा है। हम लोग देश की का/नून को मानने वाले लोग हैं। हमारा प्रशा/सन से कोई टक/राव नहीं है।
गौरतलब है कि देश भर में इस वक्त नागरिकता संशोधन कानून को लेकर बह/स चल रही है। एक तरफ जहां कांग्रेस समेत ज्यादातर विप/क्षी पार्टिया इसके वि/रोध में है और सरकार से इसके वापस लेने की मांग कर रही है तो वहीं दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी आम जनता को सीएए के बारे में जागरूक कर रही है।

मालूम हो कि हाल ही में, पश्चिम बंगाल ने नागरिकता संधोधन कानून के खिलाफ विधानसभा में प्रस्तावित किया था। इसके पहले केरल, पंजाब और राजस्थान में नागरिकता संशो/धन कानून के खिला/फ प्रस्ताव पारित किया जा चुका है, हालांकि इस कदम को केंद्र सरकार ने असं/वैधा/निक बताया और कहा गया कोई भी राज्य संसद से पारित कानू/न के खिला/फ प्रस्ताव पा/रित नहीं कर सकती है।
खैर अब यह देखना दिलचस्प रहेगा कि आऩे वाले समय में क्या नागरिकता संशो/धन कानून को लेकर राजनीतिक किस ओर करवट होती है। यह तो आऩे वाला वक्त बताएगा, हालांकि जिस तरह कांग्रेस समेत ज्यादातर विप/क्षी पार्टी इसके खिलाफ है। उससे यह कहना गलयत नहीं होगा कि आने वाले समय में बीजेपी के लिए रास्ता आसान नहीं रहने वाला है।

3 thoughts on “बिहार पुलिस ने कन्हैया कुमार को किया गिर’फ्तार, शुरू करने वाले थे ‘जन-गण-मन’ यात्रा”

  1. Absent YAP1 expression is correlated to a decreased recurrence free survival lasix fluid Therefore, once diagnosis of LCIS is established via CNB, whether further excision is necessary or not is a matter for argument

Leave a Comment