IPL 2022: कोलकाता नाइटराइर्स ने रीटेंशन में कर दी बड़ी चूक, पड़ सकता है दांव उल्टा, जानिए कैसे

651

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के फाइनलिस्ट कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) ने सुनील नरेन, आंद्रे रसेल, वरुण चक्रवर्ती और वेंकटेश अय्यर के रूप में चार खिलाड़ियों को रिटेन किया है। टीम प्रबंधन ने इयोन मोर्गन को रिलीज़ करने का फैसला किया है – जो बल्ले से खराब फॉर्म के लिए सवालों के घेरे में थे।

रसल, नरेन, वैंकटेश और वरुण को किया गया रिटेन

केकेआर के थिंक टैंक ने एक बार फिर वेस्टइंडीज की नरेन और रसेल की जोड़ी का समर्थन किया है। संभवत: उनके हरफनमौला कौशल को ध्यान में रखते हुए। ICC पुरुष T20 विश्व कप 2021 में एक भूलने योग्य प्रदर्शन के बावजूद, चक्रवर्ती को वेंकटेश अय्यर के साथ चार खिलाड़ियों में से एक के रूप में नामित किया गया है।

गलत साबित हो सकता है रिटेंशन

कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) को सुनील नरेन (Sunil Narine) और  आंद्रे रसेल (Andre Russell) को रिटेन करना काफी भारी पड़ सकता है। रसल को 16 करोड़ और नरेन को 6 करोड़ में रिटेन किया गया हैं। KKR के पास राहुल त्रिपाठी के रूप में बेहतर ऑप्शन था पर फिर भी उन्होंने इन दोनों पर भरोसा जताया। रसल अपनी फिटनेस से जुंझ रहे है जबकि सुनील ने एक आल राउंडर की तरह से टीम में काफी समय से प्रदर्शन नहीं किया।

फिटनेस की दिक्कत से जुंझ रहे है आंद्रे रसल

कोलकाता नाइटराइर्स

2021 के UAE लीग में रसल ने 10 में से केवल 3 मैचों में भाग लिया। वह पूरे समय मांसपेशियों में खिंचाव की तकलीफ से जुंझते नजर आए। चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ फाइनल में रसल का न खेल पाना टीम की हार का एक कारण भी रहा। फिटनेस के वजह से पूरे आईपीएल ने रसल ने काफी कम गेंदबाजी की साथ ही बल्ले से भी उन्होंने कोई बड़ी पारी नहीं खेली। KKR ने उनके अनुभव के वजह से उन्हें  रिटेन तो कर लिया। अगर 2022 आईपीएल तक भी रसल फिटनेस जैसे मुद्दों से उबर नहीं पाए तो यह टीम को काफी भारी भी पड़ सकता है।

सुनील नरेन का प्रदर्शन रहा है निराशाजनक

कोलकाता नाइटराइर्स

सुनील नरेन भी पिछले दो आईपीएल से अच्छे फॉर्म में नज़र नहीं आ रहे है। सुनील को टीम में एक आल राउंडर की तरह रखा जाता है। सुनील ने 2021 आईपीएल में बल्ले से केवल 62 रन बनाए जबकि उन्होंने पूरे 14 मैच खेले। गेंद से उनका प्रदर्शन फिर भी ठीक रहा उन्होंने कुल 16 विकेट चटकाए। अगर अगले साल भी नरेन का फॉर्म बल्ले से ऐसा ही रहा तो  उन्हें रिटेन करना टीम की गलती साबित हो सकता है।

ये भी पढ़ें- जब रविंद्र जडेजा पर लगा था आईपीएल में एक साल का बैन, धोखा देकर बनना चाहते थे मालामाल!