IND vs BAN: लंबे समय से टीम इंडिया से किए गए नजरअंदाज, अब मैन ऑफ द मैच जीतने के बाद कुलदीप यादव ने दिया बड़ा बयान
IND vs BAN: लंबे समय से टीम इंडिया से किए गए नजरअंदाज, अब मैन ऑफ द मैच जीतने के बाद कुलदीप यादव ने दिया बड़ा बयान

भारत और बांग्लादेश के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट मैच चटगांव में खेला गया। हो चुके इस रोमांचक मुकाबले में टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन दिखाते हुए बांग्लादेश की टीम को 188 रनों से हरा दिया।

इस मैच में पहले बल्लेबाजी करने आयी टीम इंडिया ने पहली पारी में 404 का विशाल स्कोर खडा़ कर दिया, जिसके जवाब में बांग्लादेश सिर्फ 150 रन ही बना सकी। इसके बाद दूसरी पारी में भारतीय टीम ने दमदार बैटिंग करते हुए पारी को 258 रनों पर घोषित किया और बांग्लादेश को बढ़त मिलाकर 572 रनों का लक्ष्य दिया। वहीं मिले लक्ष्य का पीछा करते हुए बांग्लादेश की टीम 324 रन ही बना सकी।

कुलदीप यादव ने की शानदार गेंदबाजी

भारत की तरफ से जिस खिलाड़ी ने सबसे शानदार खेल का प्रदर्शन दिखाया। वो कुलदीप यादव रहें। लंबे समय से टीम इंडिया से नजरअंदाज किए गए कुलदीप यादव ने पहले टेस्ट मैच में कुल 8 विकेट झटके।

जहां पहली पारी में कुलदीप यादव ने 5 विकेट झटके तो वहीं दूसरी पारी में 3 विकेट हासिल किए। इसके अलावा कुलदीप यादव ने बल्ले से भी शानदार प्रदर्शन दिखाया और पहली पारी में 40 रन की महत्वपूर्ण पारी खेली।

ये भी पढ़ें- IND vs BAN : केएल राहुल के इस एक फैसले से भारत को मिली शानदार जीत, बांग्लादेश को पहले टेस्ट में 188 रन से दी करारी मात

मैन ऑफ द मैच चुने गए कुलदीप यादव

22 महीने बाद टीम इंडिया में वापसी करने वाले स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव को मैच जिताऊ प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। भारत को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले कुलदीप यादव ने मैच प्रजेंटेशन सेरेमनी के दौरान कहा कि,

“ईमानदारी से कहूं तो मैं बल्ले और गेंद दोनों से प्रदर्शन से खुश हूं। पहली पारी की पिच दूसरी पारी की तुलना में तेज थी। पहली पारी में कुछ तेजी थी, लेकिन दूसरी पारी बेहद चुनौतीपूर्ण थी. यह धीमा था। इसलिए मैं अपनी लय पर काम करने और तेज गेंदबाजी करने की कोशिश कर रहा था।”

अपनी बात को जारी रखते हुए कुलदीप यादव ने कहा कि, “गेंद का अधिक टर्न होना बल्लेबाजों के लिए चुनौतीपूर्ण बना देता है, जिसकी वजह से बल्लेबाजी करना और ड्राइव करना भी मुश्किल हो जाता है। (क्यों कलाई के स्पिनरों के पास अतिरिक्त फायदा मिलता है)।

मैंने मैच के दोरान बस अपनी लय पर काम किया। इसके साथ ही अधिक आक्रामक गेंदबाजी की कोशिश की और इससे मुझे काफी मदद मिली। एक्शन वही है, बस लय में आक्रामक होने की कोशिश कर रहा हूं। (अपनी गेंदबाजी पर काम करने के बारे में)।”

ये भी पढ़ें-3 खिलाड़ी, जो अभी टीम इंडिया में डेब्यू का कर रहे इतंजार, लेकिन IPL 2023 के नीलामी में हो सकती है पैसों की बारिश