भारत में होने वाले चुनाव को लेकर मार्क जुकरबर्ग ने फेसबुक के हवाले से दिया बड़ा बयान

968

फेसबुक डाटा लीक होने के बाद सही मार्क जुकरबर्ग विवादों में घिर हुए हैं. लोग ने अब उन पर उंगलियां उठानी शुरू कर दी है.

वही अब इस पर सफाई देते हुए जुकरबर्ग ने कहा है, कि जो कुछ भी हुआ उसके लिए सिर्फ वही जिम्मेदार है साथ ही मार्क ने यह भी भरोसा दिलाया है कि वह खुद और उनकी टीम इस काम पर काम कर रहे हैं और भारत व दूसरे देशों में होने वाले चुनाव बिल्कुल निष्पक्ष होंगे.

मार्क जुकरबर्ग का कहना है, कि उनकी कंपनी हर मुमकिन कोशिश कर रही है, कि जो गलती अमेरिकी चुनाव में हुई वह दोबारा ना हो.

कैपिटोल हिल में सीनेट के सामने मार्क ने कहा, हमारे लिए 2018 एक बहुत अहम साल है. भारत और पाकिस्तान जैसे कई देशों में चुनाव होने हैं हम हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं, कि चुनाव पूरी तरह सुरक्षित रहे और इस पर काम भी चल रहा है.

मार्क ने आगे कहा, कि फेसबुक अमेरिकी चुनाव में अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह से नहीं निभा पाया. साथ ही माफी मांगते हुए कहा, कि हमारे प्लेटफार्म का इस्तेमाल झूठी खबर और चुनाव को बिगाड़ने के लिए किया गया इस बात से वह बहुत शर्मिंदा है.

उन्होंने कहा कि उन्हें अफसोस है कि उनकी कंपनी ने 2016 में हुए अमेरिकी चुनाव को प्रभावित करने वाले रूस की गड़बड़ी को देर से पकड़ा. जिसका फायदा डोनाल्ड ट्रंप को जीत हासिल करके मिला. आज वह अमेरिका के 45 राष्ट्रपति है.

मार्क जुकरबर्ग ने कहा, कि भारत में आगामी चुनाव को देखते हुए कहा कि फेसबुक इसके सिक्योरिटी फीचर्स को और मजबूत कर रहा है जुकरबर्ग ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का हवाला देते हुए कहा है, कि इसे फेसबुक पर लाया गया है, ताकि चुनाव को प्रभावित करने वाले फेक अकाउंट की पहचान हो सके. ऐसा टूल पहली बार फ्रांस के चुनाव में साल 2017 में लाया गया था.