शनिवार को हनुमानजी को ऐसे करें प्रसन्न, होंगे ये बड़े फायदे

अक्सर लोग शनिवार को हनुमानजी की पूजा करते हैं और ऐसा करने से उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। वहीं इस बीच इस पोस्ट के जरिये हम आपको शनिवार के दिन हनुमानजी को कैसे प्रसन्न करें इस बात की जानकारी देने जा रहे हैं और ऐसा करने से आपकी किस्मत चमक जाएगी साथ ही सभी मनोकामना भी पूरी होगी।

भक्त को शनिवार के दिन राम मंदिर में जाकर हनुमान जी के मस्तक का सिंदूर दाहिने हाथ के अंगूठे से लेकर सीता माता के श्री रूप के श्री चरणों में लगाना चाहिए और प्राथना करनी चाहिए ऐसा करने से उनकी जो भी मनोकामना है वो पूरी हो जायेंगी।

इसी के साथ शनिवार की सुबह स्नान करने के बाद बड़ के पेड़ का एक पत्ता तोड़ें और इसे साफ पानी से धो लें। अब इस पत्ते को कुछ देर हनुमानजी के सामने रखें। इसके बाद इस पर केसर से श्रीराम लिखें। अब इस पत्ते को अपने पर्स में रख लें। ऐसा करने से साल भर आपका पर्स पैसों से भरा रहेगा।

शनिवार के दिन व्रत करके शाम के समय बूंदी का प्रसाद बांटने से भी पैसों की तंगी दूर हो जाती है। साथ ही हनुमान जी की कृपा बरसती है। वहीं शनिवार के दिन हनुमान जी के मन्दिर में जाएं। उनके कंधों पर से सिन्दूर लाकर अपने कलेजे पर लगाएं। ऐसा करने से नजर का प्रभाव समाप्त होगा और समृद्धि के द्वार खुलेंगे।

वहीं जीवन की समस्त समस्याओं के निवारण के लिए शनिवार की शाम हनुमान जी के मंदिर में जाएं और रामरक्षा स्त्रोत का पाठ करें। वहीं एक सरसों के तेल का और एक शुद्ध घी का दीपक जलाएं। वहीं बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करें। और ऐसा करने से हनुमान जी की कृपा बनी रहेगी। वहीं अगर आपको बुरे सपने आते हैं तो शनिवार के दिन आप हनुमानजी के पैरों में फिटकरी रखें और ऐसा करने से आपको बुरे सपने नहीं आएंगे।

इसी के साथ यदि कोई व्यक्ति पैसों की तंगी का सामना करना रहा है तो उसे प्रति मंगलवार और शनिवार को पीपल के 11 पत्तों का यह उपाय अपनाना चाहिए। इस उपाय को करने के लिए ब्रह्म मुहूर्त में उठें। इसके बाद नित्य कर्मों से निवृत्त होकर किसी पीपल के पेड़ से 11 पत्ते तोड़ लें। इन 11 पत्तों पर स्वच्छ जल में कुमकुम या अष्टगंध या चंदन मिलाकर इससे श्रीराम का नाम लिखें। नाम लिखते समय हनुमान चालीसा का पाठ करें। वहीं इन पत्तों की एक माला बनाएं और इस माला को हनुमानजी के मंदिर जाकर बजरंगबली को अर्पित करें। इस प्रकार यह उपाय करते रहें। कुछ समय में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे।

(इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। )