देश के कई इलाकों में भारी बारिश की संभावना, चक्रवात ‘गुलाब’ का असर बाकी; जानें अपने राज्य का हाल

526

भारत के मौसम को लेकर एक बड़ी खबर समाने आई है खबर है कि भारत में मौसम में बड़ा बदलाव होने वाला है। दरअसल, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बुधवार को गुजरात, उत्तरी कोंकण, उत्तर-मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में तेज बारिश का पूर्वानुमान व्यक्त किया है।

जानकारी के अनुसार, पूर्वी तट और मध्य भारत में तेज बारिश के बाद मंगलवार को चक्रवात गुलाब कमजोर होने से कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। वहीं इस बीच  IMD ने मंगलवार को कहा था कि उत्तर ओडिशा के कुछ जगहों पर 30 सितंबर तक भारी बारिश हो सकती है।

वहीं बंगाल की खाड़ी से आगे बढ़ा चक्रवात ‘गुलाब’ कमजोर पड़ गया है। इसी के साथ बुधवार को यह और कमजोर होकर अरब सागर की ओर बढ़ सकता है। वहीं मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार इसके प्रभाव से इंदौर, उज्जैन संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बारिश होने की संभावना है। लेकिन चक्रवाती तूफान गहरा कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील होकर पश्चिमी महाराष्ट्र में सक्रिय है।

 

इसी के साथ उत्तरी कोंकण से लेकर तटीय आंध्र प्रदेश तक पूर्व-पश्चिम ट्रफ बना हुआ है। इन तीन सिस्टम के सक्रिय रहने से बुधवार को इंदौर, उज्जैन संभागों के जिलों में बारिश होने की संभावना है।

वहीं IMD के अनुसार पश्चिमी तट पर गुलाब के पहुंचने से इसके फिर तेज होने की संभावना है। IMD के चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने कहा है कि दक्षिण-पश्चिम विदर्भ और पड़ोस पर बना दबाव पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया है। इसी के साथ अगले 24 घंटों के दौरान इसके उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और धीरे-धीरे कमजोर होने की संभावना है।

इसी के साथ चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने कहा कि 30 सितंबर के आसपास यह पूर्वोत्तर अरब सागर और उससे सटे गुजरात तट पर पहुंच जाएगा। बुधवार को पूर्वोत्तर अरब सागर में इसके और तेज होने की संभावना है। आशंका है कि अरब सागर में पहुंचते ही यह सिस्टम तेज होकर चक्रवात में तब्दील हो सकता है। वहीं गुजरात में मौसम विभाग की सूरत में भारी बारिश की भविष्यवाणी के बाद उकाई डैम से पानी छोड़ा गया है।

आपको बता दें कि चक्रवात ‘गुलाब’ 26 सितंबर को ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तट से टकराया था। तट से टकराने के बाद यह कमजोर पड़ने लगा। लेकिन महाराष्ट्र के तेलंगाना, छत्तीसगढ़, मराठवाड़ा और विदर्भ क्षेत्रों में तेज बारिश हुई।