समझ से परे द्रविड़-रोहित के ये तीन फैसले, एशिया कप के बाद भी बार बार दोहरा रहे ये गलतियां

129

भारतीय टीम पिछले कुछ समय से मुश्किल दौर से गुजर रही है, चाहे टीम बोर्ड पर जितने भी रन लगा ले उनके गेंदबाज ये टोटल डिफेंड नहीं कर पा रहे है। कप ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 208 रन बनाने के बावजूद टीम को हार का सामना करना पड़ा। ऐसे में समझ से परे है द्रविड़-रोहित के ये तीन फैसले, एशिया कप के बाद भी बार बार दोहरा रहे ये गलती।

भुवनेश्वर कुमार को बार बार डेथ ओवर में गेंद सौंपना

एशिया कप में भारत की हार का सबसे बड़ा कारण भुवनेश्वर का 19वां ओवर था, चाहे श्रीलंका के खिलाफ मैच की बात हो या पाकिस्तान के।

बावजूद इसके रोहित शर्मा ने कल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक बार फिर भुवनेश्वर को 19वें ओवर के लिए गेंद थमा दी, भुवनेश्वर ने 17वे और 19वे ओवर में मिला के 31 रन दे डाले। रोहित शर्मा ने एशिया कप से सबक न लेते हुए फिर वो ही गलती दोहराई।

टी 20I विश्व कप से ठीक पहले अभी तक हो रहा है एक्सपेरिमेंट

जबसे विराट कोहली कप्तानी से हटे है और कोच रवि शास्त्री का कार्यकाल खत्म हुआ है। भारतीय टीम एक्सपेरिमेंट के दौर से गुजर रही है। पहले ये एक्सपेरिमेंट टीम कॉम्बिनेशन ढूंढने के लिए सही भी था। पर अब जब टी 20I वर्ल्ड कप इतना नजदीक है फिर भी ऐसा ही किया जा रहा है।

ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक को लेकर को स्पष्टता नहीं है। कभी किसी को मौका दिया जा रहा है कभी किसी को, इसके चलते बार बार बल्लेबाजी क्रम में बदलाव किए जा रहे है। अर्शदीप वर्ल्ड कप स्क्वाड का हिस्सा है तो उन्हें इस टी20I सीरीज के लिए बाहर करने का कारण भी समझ नहीं आता है।

जो टी20I वर्ल्ड कप स्क्वाड का हिस्सा उन्हें नहीं मिल रहा है मौका, 3 साल बाद करवा दी उमेश यादव की वापसी

मोहम्मद शमी पहले इस स्क्वाड का हिस्सा थे, पर उनके कोविड पॉजिटिव होने के बाद अचानक से तीन साल से अंतराष्ट्रीय स्तर पर टी20I नहीं खेलने वाले उमेश को टीम से जोड़ लिया गया। जोड़ने तक तो था उन्हें प्लेइंग इलेवन में भी शामिल कर लिया गया।

जबकि भारत के पास दीपक चाहर का विकल्प मौजूद था जो विश्व कप स्क्वाड में स्टैंडबाय खिलाड़ी है। साथ ही जब जसप्रीत बुमराह पूरी तरह फिट नहीं थे तो उनके बदले अर्शदीप को टीम में रखा जा सकता था। पर रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ ने यहां एक बार फिर गलती कर दी।