6 गेंद में 6 विकेट, इस युवा गेंदबाज ने रचा इतिहास, अकेले दम पर टीम को दिला दी जीत; देखें Video

इन दिनों नेपाल में प्रो क्लब T20 चैंपियनशिप का आयोजन हो रहा है। इस T20 लीग में एक अजीब चमत्कार देखने को मिला।

22 साल के मलेशियाई लेफ्ट आर्म स्पिनर वीरनदीप सिंह (Virandeep Singh) ने टी-20 फॉर्मेट में अद्भुत रिकॉर्ड अपने नाम किया है। पारी के अंतिम ओवर में वीरनदीप सिंह ने 1 ओवर में 5 विकेट लिए और उनकी ओवर में एक खिलाड़ी रन आउट होकर पवेलियन लौटा

3 खिलाड़ियों को किया क्लीन बोल्ड

जिसके दम पर मलेशिया इलेवन ने पुश सपोर्ट दिल्ली के 1 ओवर की छह की छह गेंदों पर 6 विकेट चटका कर इतिहास रचा है। मलेशिया इलेवन के लिए भी वीरनदीप सिंह (Virandeep Singh) ने 20वें ओवर में गेंदबाजी करते हुए ओवर की वाइड से शुरुआत की मगर उन्होंने ओवर की पहली ही गेंद पर पुश स्पोर्ट्स दिल्ली के कप्तान मृगांक पाठक को आउट कर दिया।

इसके बाद ओवर की दूसरी गेंद पर ईशान पांडे रन आउट होकर पवेलियन लौटे और इसके बाद मलेशिया के वीरनदीप सिंह (Virandeep Singh) ने शेष बची 4 गेंदों पर 4 विकेट चटका दिए।

वीरनदीप सिंह (Virandeep Singh) ने अपने इस ओवर में तीन खिलाड़ियों को क्लीन बोल्ड कर के पैवेलियन भेजा। उन्होंने इस मुकाबले में 2 ओवर गेंदबाजी करते हुए 9 रन के एवज में 5 विकेट हासिल किए।

वीरनदीप सिंह (Virandeep Singh) के ओवर का पूरा रोमांच

मलेशिया के गेंदबाज वीरनदीप सिंह (Virandeep Singh) ने अपनी पहली गेंद पर मृगांक पाठक को कैच कराया, दूसरी गेंद पर ईशान पांडे रन आउट हुए, तीसरी बॉल पर अनिंदो नहराय क्लीन बोल्ड हुए, चौथी गेंद पर विशेष सरोहा क्लीन बोल्ड हुए, पांचवीं गेंद पर जतिन सिंघल कैच आउट हुए और छठी गेंद पर स्पर्श क्लीन बोल्ड होकर पवेलियन लौटे।

मलेशिया इलेवन ने 7 विकेट से जीता मुकाबला

पुश स्पोर्ट्स और मलेशिया इलेवन के बीच खेले गए इस मुकाबले में मलेशिया की टीम ने सात विकेट से जीत हासिल की। पुश स्पोर्ट्स ने मुकाबले में पहले बैटिंग करते हुए मलेशिया के सामने 133 रनों का लक्ष्य रखा।

जवाब में मलेशिया की टीम ने 18 वें ओवर में ही जीत हासिल कर ली। इस मुकाबले में 5 विकेट हासिल करने वाले वीरनदीप सिंह ने बल्ले से भी शानदार प्रदर्शन करते हुए टीम के लिए 33 रनों की शानदार पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 19 गेंदों का सामना करते हुए 4 चौके और 2 छक्के भी जड़े।

ये भी पढ़ें- IPL 2022 : मुंबई इंडियंस को मिली लगातार पांचवीं हार के तीन बड़े कारण, आखिरी सबसे अहम