युवराज सिंह की चाहत- रोहित नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को बनाओ टेस्ट टीम का कप्तान, गेम पढ़ने में है माहिर

612
युवराज सिंह

पिछले 7 सालों से टीम इंडिया की टेस्ट कप्तानी संभालने वाले विराट कोहली ने बीते शनिवार को ट्विटर पर एक नोट शेयर करके भारतीय टीम की टेस्ट कप्तानी से खुद को अलग कर लिया है। ऐसे में विराट कोहली अब टीम इंडिया के तीनों फॉर्मेट में बल्लेबाज के रूप में खेलते दिखाई देंगे।

विराट कोहली द्वारा अचानक उठाए गए इस निर्णय से हर कोई हैरान है। जबकि उनके इस तरीके से कप्तानी छोड़ने पर सवालिया निशान भी खड़े किए जा रहे हैं। ऐसे में विराट कोहली के बाद किस खिलाड़ी को टेस्ट की अगुवाई करने का जिम्मा सौंपा जाए।

इस बारे में बीसीसीआई ने अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है। मगर कुछ दिग्गज है जो अपने सुझाव मीडिया के जरिए बीसीसीआई के सामने रख रहे हैं। इसी क्रम में भारत के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत के नाम का सुझाव टेस्ट की कप्तानी के लिए भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर और मध्यक्रम के पूर्व बल्लेबाज युवराज सिंह जैसे दिग्गज प्लेयर दे चुके हैं।

सुनील गावस्करदरअसल,
आमतौर पर देखा गया है किसी भी कप्तान के कप्तानी छोड़ने के बाद वाइस कैप्टन को टीम की अगुवाई का जिम्मा दिया जाता है। टीम इंडिया में यह रिवायत बीते काफी सालों से निरंतर चली आ रही है। विराट कोहली भी इसी क्रम से टीम इंडिया के कप्तान बनाए गए थे।

एम एस धोनी के टेस्ट से इस्तीफा देने के बाद बोर्ड ने उन्हें उप कप्तान से कप्तान की जिम्मेदारी दी थी। मगर आज के दौर की स्थिति एकदम उलट नजर आ रही है। लंबे समय से टीम इंडिया के वाइस कैप्टन की भूमिका में नजर आने वाले रहाणे को बोर्ड ने टेस्ट की कप्तानी से हटा दिया है। उनकी जगह पर ट्वेंटी-20 और वनडे के नए कप्तान रोहित शर्मा को यह जिम्मेदारी दी गई थी।

सुनील गावस्कर की बात से सहमत दिखे युवराज, मिलाई हां में हां

आगामी टेस्ट सीरीज के लिए बीसीसीआई संभव है कि वनडे और टी20 के कप्तान रोहित शर्मा को टेस्ट का कप्तान बना दे मगर भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर और युवराज जैसे धाकड़ खिलाड़ी टीम इंडिया के फ्यूचर पर गौर करते हुए बीसीसीआई को कड़ा कदम उठाने की सलाह दे रहे हैं।

एक न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में गावस्कर ने कहा कि ऋषभ पंत को टेस्ट क्रिकेट की जिम्मेदारी देनी चाहिए। सुनील गावस्कर की इतना कहते ही दिग्गजों की राय अलग-अलग सामने आ रही है। जबकि टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज युवराज सिंह ने गावस्कर की हां में हां मिलाते हुए उनकी बात से सहमत दिखाई दिए। उन्होंने ट्वीट करके कहा ,“बिल्कुल सही। स्टम्स के पीछे से (ऋषभ पंत) गेम को अच्छे से पड़ता है।”

पंत को कप्तानी सौंपने की मांग उठने का यह है कारण

गौरतलब है कि जो भी पूर्व दिग्गज खिलाड़ी ऋषभ पंत को टेस्ट की कप्तानी देने की बात कह रहे हैं। उनके पीछे का उनका तर्क यह है कि जैसे साल 2003 के वर्ल्ड कप के बाद दक्षिण अफ्रीका की टीम ने 22 साल के युवा चेहरे ग्रीम स्मिथ को टीम की अगुवाई करने का जिम्मा सौंपा था।

ठीक उसी तरह भारतीय टीम को भी कड़ा निर्णय उठाते हुए ऋषभ पंत को जिस टीम की कमान सौंप देनी चाहिए। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान स्मिथ में तकरीबन 10 साल तक दक्षिण अफ्रीका की अगुवाई की है और उन्होंने इस दौरान दक्षिण अफ्रीका की टीम को सबसे सफल बनाया।

साउथ अफ्रीका की टीम उनकी कप्तानी में ही सबसे ज्यादा टेस्ट मैच जीतने का स्वाद चख चुकी है। जबकि भारत के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत के पास भी कप्तानी का थोड़ा बहुत अनुभव है। उन्होंने आईपीएल के पिछले सीजन में दिल्ली कैपिटल्स की अगुवाई की थी। उनके नेतृत्व में दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने शानदार प्रदर्शन भी किया था।

ये भी पढ़ें- विराट कोहली vs एमएस धोनी vs सौरव गांगुली: टीम इंडिया के लिए टेस्ट क्रिकेट में किसकी कप्तानी रही ज्यादा बेहतर