जहीर खान ने बताया, आखिर क्यों टीम इंडिया में मुश्किल होगा अजिंक्य रहाणे की वापसी

366
जहीर खान

टीम इंडिया के पूर्व पेसर जहीर खान ने अजिंक्य रहाणे को लेकर एक अहम बयान दिया है। अपने बयान में कहा मुंबई टेस्ट मुकाबले में बेंच पर बैठने वाले और कानपुर टेस्ट मैच में टीम की कमान संभालने वाले अजिंक्य रहाणे को टीम में वापसी करने के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

जहीर खान का साफ तौर पर कहना है कि टीम इंडिया में खिलाड़ी को मौका मिलना काफी कठिन होता है और जब टीम के पास कई स्टार खिलाड़ी मौजूद हैं ऐसे में अजिंक्य रहाणे पिछले 1 साल से लगातार खराब प्रदर्शन करके अपने लिए नई मुश्किलें पैदा कर ली हैं।

पिछले 2 साल से प्रदर्शन में आई है गिरावट

अजिंक्य रहाणे कानपुर टेस्ट में उन्होंने पहली पारी में 35 रन और दूसरी पारी में 4 रन ही बनाए थे। खराब दौर से गुजर रहे अजिंक्य रहाणे पिछले 4 सालों से अब तक भारतीय टीम के लिए हर एक मुकाबले में शामिल रहे हैं। और इतना ही नहीं उन्होंने कोहली की गैरमौजूदगी में टीम की कमान भी संभाल ली है।

मगर साल 2021 में उन्होंने 12 टेस्ट मुकाबले खेलते हुए महज 20. 35 की औसत से 407 रन ही बनाए हैं। साल दर साल अजिंक्य रहाणे प्रदर्शन में गिरावट देखी जा रही है। शायद इसी वजह से टीम मैनेजमेंट ने उन्हें चोट का बहाना बनाकर मुंबई टेस्ट मुकाबले में मैदान पर नहीं उतारा है।

ये भी पढ़ें- IND vs NZ: मुंबई में भारतीय गेंदबाजों ने मचाया कहर, न्यूजीलैंड की टीम 62 रनों पर ढेर

रहाणे को वापसी करने में करना पड़ेगा मुश्किलों का सामना

टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान ने क्रिकबज से बातचीत के दौरान अजिंक्य रहाणे पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए हुए कहा, “अगर आप अनफिट रहते हैं तब तो कोई दिक्कत वाली बात नहीं है। ऐसा नहीं है कि अगर आपको टीम से ड्रॉप किया गया है तो फिर आपको वापसी का मौका नहीं दिया जाएगा लेकिन हां इस इंडियन टीम में आपको वापसी का मौका मिलना काफी मुश्किल रहता है।

भारतीय टीम के पास काफी बेंच स्ट्रेंथ मौजूद है और आपको वो भी देखना पड़ेगा। यहां तक कि डोमेस्टिक प्लेयर्स भी टीम में जगह बनाने के लिए अपनी दावेदारी पेश करने से पीछे नहीं हटने वाले है। इसलिए टीम में जो भी खिलाड़ी हैं उन्हें पता होता है कि लगातार टीम में बने रहने के लिए उन्हें अच्छा प्रदर्शन करके दिखाना होगा।”

गौरतलब है कि रहाणे विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया की उपकप्तानी का जिम्मा संभालते हैं। ऐसे में अगर उन्हें लगातार टेस्ट टीम से बाहर रखा जाता है तो मीडिया रिपोर्ट के अनुसार केएल राहुल को या फिर t20 फॉर्मेट के कप्तान रोहित शर्मा को उनकी जगह टेस्ट टीम की कप्तानी दी जा सकती है।