आरटीआई की रिपोर्ट में हुआ खुलासा, आम आदमी पार्टी ने चाय-समोसों पर ही खर्च कर डाले एक करोड़ रूपये

आम आदमी पार्टी और उसके संस्थापक अरविंद केजरीवाल हमेशा ही सुर्खियों में बने रहते हैं. आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल का दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर 3 साल से ज्यादा का वक्त हो चुका है.

आरटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार उनके अब तक के कार्यकाल में सिर्फ चाय और समोसे पर एक करोड़ से ज्यादा का खर्च हो चुका है.

सूचना का अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत यह जानकारी दी गई है. इसके अलावा मुख्यमंत्री बनने के बाद यह अब तक उनकी यात्राओं पर तकरीबन 12 लाख रुपए खर्च हो  चुके हैं.

दिल्ली सरकार की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री कार्यालय में वर्ष 2015-16 में चाय समोसे पर 23.12 लाख और 2016- 2017 के दौरान यह कुल 46.4 रुपए खर्च हुए थे.

वित्त वर्ष 2017-18 में चाय समोसों पर 33.36 लाख रुपए का खर्चा आया है. आरटीआई से ही CM केजरीवाल द्वारा सचिवालय स्थित कार्यालय और रेजिडेंट कैंप ऑफिस में चाय और समोसे पर लाखों रुपए खर्च करने की बात सामने आई है.

हल्द्वानी की आरटीआई कार्यकर्ता हेमंत सिंह की अर्जी पर सिर्फ मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा चाय-समोसे पर एक करोड़ से ज्यादा खर्च करने की बात सामने आई है.

उत्तराखंड के आरटीआई कार्यकर्ता हेमंत ने बताया, कि चाय समोसे पर खर्च होने वाले इन पैसों को बचाया जा सकता था. उन्होंने कहा यह एक ऐसा खर्च है जिसे बचाया जाना चाहिए था, ताकि इन पैसों को उन लोगों पर खर्च करना चाहिए था. जो एक वक्त का भी खाने का खर्च उठाने में समर्थ नहीं है.

मुझे उम्मीद है, कि सरकार व्यापक हित के लिए ऐसे खर्चों में कटौती करेगी. बता दे, कि मुख्यमंत्री बनने के बाद केजरीवाल भगवान दास रोड पर स्थित बंगले में शिफ्ट हुए थे. इसमें दो डुप्लेक्स अपार्टमेंट है. एक में वह परिवार के साथ रहते हैं. जबकि दूसरे का इस्तेमाल ऑफिस के तौर पर किया जाता है.