मुंबई से स्कूटी चलाकर 1700 किमी दूर युवक पहुंचा बनारस अपने गांव, कहा- मु’श्किल था वहां रहना

New Delhi: दुनिया में और देश में कोरोना वायरस के बढ़ते हुए प्र’कोप को देखते हुए भारत सरकार ने पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन कर दिया है। 24 मार्च को खुद पीएम मोदी ने पूरे देश को संबोधित करते हुए इस बात का ऐलान किया। इसके साथ ही उन्होंने सभी देश वासियों से ये अपील की कि वो अपने घर पर ही रहे ताकि वो कोरोना वाय’रस के संक्र’मण में आने बच सके। लेकिन पीएम मोदी की इतनी अपील करने के बाद भी कई लोग अपनी मनमानी करने से बाज नहीं आ रहे है। ऐसा ही एक के’स वाराणसी से सामने आया है। जहां एक आदमी मुंबई से स्कूटी चलाकर अपने गांव सोनभद्र पहुंचा। जैसा कि हम सब को पता हैं कि वाराणसी में 23 मार्च से लॉकडाउन लागू है। जिसकी वजह से मुंबई से स्कूटी चलाकर आया ये आदमी यहां पकड़ा गया।

वाराणसी में इस आदमी से पूछताछ के दौरान पता चला कि ये आदमी मुंबई के एक प्राइवेट कम्पनी में इंजीनियर के तौर पर काम करता है। ये आदमी मुंबई में फै’ल रहे कोरोना वाय’रस के डर ‘की वजह से मुंबई से स्कूटी चलाकर पहले बानासर पहुंचा जहां पुलिस ने इसे एक रात रखा, जिसके बाद उसे सुबह छोड़ दिया गया, और अपने घर सोनभद्र स्कूटी चलाकर पहुंच गया।

मिली जानकारी के मुताबिक पता चला कि ये आदमी मुंबई में अपने काम के चलते काफी समय से रह रहा था। इस आदमी ने बताया कि मुंबई से आते हुए वक्त वहां लॉकडाउन लागू हो चुका था। लोग अपने घर से बाहर नहीं निकल सकते है,वहां खाने-पीने की परेशानी हो रही थी, जिसकी वजह से इस आदमी ने सोनभद्र में अपने घर वापस आने का फैसला किया। उस आदमी ने कहा कि मुंबई से यहां तक आने के लिए स्कूटी को सिर्फ इस लिए चुना ताकि वो कोरोना वायरस की चैन शामिल ना हो।

बता दें कि देश में लॉकडाउन होने बाद भी लगातार लोगों की लापरवाही देखने को मिल रही है। देशभर के कई इलाके से ऐसी लोगों कि ऐसी तस्वीर देखने को मिली है जो कि बहुत ही दुख दे रही है। लॉकडाउन की घोषणा होने के बाद लोग लगातार अपने घर से बाहर दिख रहे है, कभी लोग अपने घर का जरूरी सामन खरीद रह है, तो कही लोग बैंक से अपने पैसे निकाल रहे है। खैर कई इलाको में पुलिस ने लोगों को उनके घर में भी बंद किया है। वहीं बात करे देश में कोरोना वायरस केस कि तो ये आकड़ा अब 600 के पार पहुंच गया है।

Leave a Comment