विराट कोहली और सौरव गांगुली में कौन है बेहतर कप्तान? वीरेंद्र सहवाग ने दिया यह जवाब

551
Virendra Sehwag

टीम इंडिया के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag) ने टीम इंडिया के दो पूर्व कप्तानों की तुलना करते हुए एक बड़ी बात बोल दी है।

वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag इन दो कप्तानों में से एक ही कप्तानी में भी खेल चुके हैं। अब वीरेंद्र सहवाग ने विराट कोहली (Virat Kohli) और सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) में से किसी एक खिलाड़ी को बेहतर कप्तान बताया है।

विराट कोहली पर कुछ ऐसी है सहवाग की राय

Virat Kohli

वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag ने होम आफ हीरोज स्पोर्ट्स 18 शो पर बातचीत करते हुए कहा,’ सौरव गांगुली ने एक नई टीम बनाई, नए खिलाड़ियों का हमेशा समर्थन किया। मुझे संदेह है कि शायद ही कोहली ने अपने कार्यकाल में ऐसा किया हो।”

दो बार के वर्ल्ड कप विजेता ने कहा कि कोहली की कप्तानी के दौरान 2-3 साल के लिए लगभग हर टेस्ट के बाद टीम को बदलने का चलन था, चाहे वे जीते या हारे। सहवाग ने आगे कहा, ‘मेरी राय में नंबर 1 कप्तान वह है जो एक टीम बनाता है और अपने खिलाड़ियों को आत्मविश्वास देता है। उन्होंने (कोहली) कुछ खिलाड़ियों का समर्थन किया, कुछ का नहीं किया।’

ऋषभ पंत के बारे में कुछ ऐसा सोचते हैं वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag

टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag से जब इस सवाल का जवाब मांगा गया कि क्या वनडे और टी-20 सीरीज में सफल होने के बाद ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का कैरियर क्या उनके कैरियर जैसा था। इस बात पर वीरेंद्र सहवाग ने हामी भरी और आगे कहा कि ऋषभ पंत लिमिटेड ओवर के क्रिकेट में खेलने पर और सफल होंगे।

आपको बताते चलें कि टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत जब वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे मुकाबले में ओपनिंग करने के लिए मैदान पर उतरे थे तो सभी ने हैरानी जताई थी। हालांकि, इस मुकाबले में ऋषभ पंत ने 34 गेंदों का सामना करते हुए सिर्फ 18 रन बनाए थे।

इस खिलाड़ी को बताया भविष्य का सितारा

वीरेंद्र सहवाग ने मौजूदा समय में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेल रहे प्रतिष्ठा को लेकर कहा कि उनके प्रदर्शन में भविष्य में और निखार आएगा।

वीरेंद्र सहवाग ने पृथ्वी शॉ को लेकर बातचीत करते हुए कहा,’वह ऐसे खिलाड़ी हैं जो टेस्ट क्रिकेट में अच्छा कर सकते हैं. सामने वाली टीम को सोचना होगा कि क्या शॉ और पंत के रहते हुए 400 रन पर्याप्त होंगे। सहवाग ने दावा किया, ‘शॉ और पंत भारत को टेस्ट क्रिकेट पर राज करने और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप जीतने में मदद कर सकते हैं।”

ये भी पढ़ें- ये रहे दुनिया के सबसे 5 आलसी क्रिकेटर, लिस्ट में 2 भारतीय भी शामिल