PAK vs AUS: बाबर आजम ने इस खिलाड़ी पर फोड़ा हार का ठीकरा, कहा- एक बड़ी गलती बनी हार का कारण

मैथ्यू वेड की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी ने सुनिश्चित किया कि ऑस्ट्रेलिया गुरुवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ टी 20 विश्व कप फाइनल मुकाबले के लिए अंत में आराम से पहुंचे। इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया ने गुरुवार को पाकिस्तान के खिलाफ अपना सेमीफाइनल मुकाबला को पांच विकेट से जीत लिया।

पाकिस्तानी लेग स्पिनर शादाब खान ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4/26 के आंकड़े के साथ अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया [टी20 विश्व कप सेमीफाइनल के लिए सर्वश्रेष्ठ] लेकिन यह पर्याप्त नहीं था।

शादाब की घातक गेंदबाजी के बाद, ऑस्ट्रेलिया ने वापसी करने में कामयाबी हासिल की, स्टोइनिस और मैथ्यू वेड ने हसन अली और शाहीन अफरीदी की गेंदों पर धावा बोला।

ड्राप कैच को बताया टर्निंग पॉइंट

हार के बाद कप्तान बाबर आजम का गुस्सा भी हसन अली पर फूटा और उन्होंने उस कैच को मैच का टर्निंग पॉइंट भी बताया।बाबर आजम ने कहा, ‘ अगर आप ऐसे मौकों पर कैच छोड़ेंगे तो मैच आपके हाथ से निकल जाएगा। यह मैच का टर्निंग प्वाइंट भी था।’

ऑस्ट्रेलिया को 177 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए 10 गेंदों पर 20 रन चाहिए थे, वेड का कैच हसन अली ने डीप में गिरा दिया। इस ड्राप कैच के बाद वेड ने लगातार 3 छक्के लगाकर ऑस्ट्रेलिया को जीत दिलाई।

मोहम्मद रिजवान और फखर जमान के अर्धशतक के बल पर पाकिस्तान ने 176 रन बनाए, जिसे पाकर बाबर आजम खुश हुए। हालांकि, कप्तान हसन अली द्वारा गिराए गए कैच से निराश नजऱ आये। हसन अपनी गेंदबाजी के दौरान पहले ही 44 रन दे चुके थे।

ये भी पढ़ें- 17वें ओवर से बदल गई पूरी कहानी, लगातार 3 छक्के जड़ मैथ्यू वेड ने ऐसे छीनी पाकिस्तान से जीत

जितने सोचे थे उतने रन बनाए, ड्राप कैच ने हराया मैच

“ हमने उतने ही रन बनाए जितने की हमने योजना बनाई थी। मुझे लगता है कि अगर हम ऐसी टीमों को बैक एंड में मौका देते हैं तो यह महंगा होता है। खेल का टर्निंग प्वाइंट था वो गिरा हुआ कैच। अगर वह पकड़ लिया गया होता तो परिदृश्य अलग हो सकता था, ”बाबर आजम

टीम के प्रदर्शन से संतुष्ट कप्तान

भारत और न्यूजीलैंड को आसानी से हराकर, पाकिस्तान सुपर 12 चरण में अपराजित रहने वाली वाला एकमात्र टीम थी। विश्व कप में पहली बार पाकिस्तान का नेतृत्व कर रहे बाबर आजम अपनी टीम के प्रदर्शन से संतुष्ट हैं।

ये भी पढ़ें- ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पाकिस्तान को मिली सेमीफाइनल में हार की 3 बड़ी वजहें, आखिरी सबसे अहम